You are here
Home > Rajasthan > Politics (Page 2)

जनता का मुख्यमंत्री बनाम “क्यूट” उप-मुख्यमंत्री में बदली राजस्थान की लड़ाई

“कितना क्यूट है वो, सीएम तो बनना ही चाहिए” चुनावी समर के दौरान राजस्थान में दिल्ली के कई दिग्गज पत्रकार मधुमक्खी की तरह भिनभिनाते नजर आये। उनमें से ज्यादातर, विशेषकर महिला पत्रकारो में, जिज्ञासा ये थी कि क्या सचिन पायलेट राजस्थान के मुख्यमंत्री होगे या नही। इस क्यूटनेस का जादू प्रियंका

ओम माथुर फिर से वसुंधरा राजे की कुंड़ली के राहू साबित हुए !!

वसुंधरा राजे की कुंड़ली में ऐसा कोई योग नही जो उन्हे अनंत-विजय की ओऱ ले जाता है। पर, शनि की तगड़ी कृपा से उन्हे राजयोग की प्राप्ति हुई और बार बार उन्हे अपने शत्रुओं पर विजय प्राप्त हुई है। यज्ञ सिद्धी पर विश्वास रखने वाली वसुंधरा राजे ने, पीताम्बरा पीठ

2018 का चुनाव राजस्थान की जाट राजनीति को नयी दिशा देगा !!

राजस्थान में जाट राजनीति सबसे बड़ा फेक्टर है। वसुंधरा राजे ने पांच साल तक अपना तख्त जाटों के भरोसे ही बचाये रखा नही तो 2015 में उनकी ऱवानगी होना लगभग तय हो चुका थी। मोदी भी राजस्थान के जाटों से खौफ खाता है और यही कारण है कि वसुंधरा राजे

दिव्या मदेरणाः खांटी जाट नेता बनने की कवायद में खाक होती विरासत

भरियां सौ छलके नही, छलकै सो आधा..! माणस आही परख्यां, बोल्या अर लाधा...!! मारवाड़ के युवा जाट को भले ही हनुमान बेनीवाल का तीखा और विद्रोही तरीके पसंद हो पर कोई अंदाज इन जवां दिलों पर राज करता है तो वो है – दिव्या मदेरणा का। बड़ी बड़ी बोलती आंखे और तल्ख आवाज, खांटी

क्या जल जायेगी राजस्थान में हनुमान बेनीवाल की लंका !!

“लूम लपेटी लंक को जारा, लाह समान लंक जरी गयी।“ लंका तो पूरी तरह से जल जाने के करीब है – पर ये लंका है हडूमान की। पांच साल तक उछल कूद मचाने के बात राजस्थान में तीसरे मोर्चे की बात करने वाले हनुमान बेनीवाल केवल 67 विधानसभा सीटों पर ही

सचिन पायलट ने अपनी राजनीतिक आबरु लगायी दांव पर

"फटा पोस्टर निकला हीरो" की तर्ज पर आखिरकार राजस्थान में कांग्रेस के प्रत्याशियों की लिस्ट जारी हो ही गयी। चुनावी प्रक्रिया शुरु होने के चार दिन तक दिग्गजों के भंयकर घमासान की खबरों के बीच लिस्ट आयी तो पर निकली – फुस्स। कांग्रेस के दिग्गजों ने जिस तरह से एक

Swinging Political Pendulum of Rajasthan is going Ashok Gehlot’s way

Political fortunes fluctuates during election times, some time so vigorously that careers are made or destroyed. Rajasthan is one political fight before the crucial general election in 2019 that both Congress and BJP want to win. However, fights are going on within more than its with each other.    There is

नाते की औरत सा व्यवहार हो रहा है मानवेन्द्र सिंह से

राजस्थान में नाता प्रथा को एक कुरीति माना जाता है। कुरीति होने के बावजूद सामाजिक स्तर पर कई जातियां नाता प्रथा को आज भी स्वीकार करती है और कई जातियों ने इस पर प्रतिबंध लगा दिया है। वैसे भी सामाजिक पंरपराओं की शुरुआत किसी समस्या के हल के लिए होती

दूधारु गायों को “खटाणां” जानते है सचिन पायलट

गिणे न कोई गरीब नै, धनपत नै सै धाय..। छींक खाय जो धनपति, खम्मा खम्मा कहवाय..।। राजस्थान में चुनावी बहार के बीच कांग्रेस के नेता अब सरकारी दूधारु गाय को दूहने को बेकरार नजर आ रहे है। पर उससे पहले, सरकार का दूध पीने की आस में लगे कई नेता अच्छे से

सचिन पायलट – राजस्थान में डूबती भाजपा के तारणहार

राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं की बांछे खिली हुई है। जब से राहुल गांधी ने धौलपुर से लेकर बीकानेर तक की यात्रा में सचिन पायलट के भावी मुख्यमंत्री होने का लुका छिपा सा संदेश दिया है, भाजपा का उत्साह दुगुना हो गया है। अजमेर में नरेन्द्र मोदी की

Top