You are here
Home > Posts tagged "Sachin Pilot" (Page 2)

सचिन पायलट पर लगे आरोपों की सच्चाई अभी तक साबित नही

मी टू कैंपेन के जमाने में जब सभी राजनेता देश में महिलाओं के स्वाभिमान के समर्थन में ट्वीटर पर बयान जारी कर रहे है वही एक ट्वीट राजस्थान के भावी मुख्यमंत्री सचिन पायलट के गले की हड्डी बन गया है। 13 अक्टूबर को सचिन पायलट ने मी टू कैंपेन के

दूधारु गायों को “खटाणां” जानते है सचिन पायलट

गिणे न कोई गरीब नै, धनपत नै सै धाय..। छींक खाय जो धनपति, खम्मा खम्मा कहवाय..।। राजस्थान में चुनावी बहार के बीच कांग्रेस के नेता अब सरकारी दूधारु गाय को दूहने को बेकरार नजर आ रहे है। पर उससे पहले, सरकार का दूध पीने की आस में लगे कई नेता अच्छे से

Maggu Met Pappu: It’s Advantage BJP in Rajasthan

रिड़मल थापियां तिकै राजा।। Decedents of Jodha became kings in Marwar but not without approval of decedents of Ranmal. This is an unwritten code of Rathore clan that one who is supported by the nobles, only - becomes the King. The Rathore clan of Malani stands divided today as they were

सचिन पायलट – राजस्थान में डूबती भाजपा के तारणहार

राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं की बांछे खिली हुई है। जब से राहुल गांधी ने धौलपुर से लेकर बीकानेर तक की यात्रा में सचिन पायलट के भावी मुख्यमंत्री होने का लुका छिपा सा संदेश दिया है, भाजपा का उत्साह दुगुना हो गया है। अजमेर में नरेन्द्र मोदी की

मारवाड़ के जाट को जानना है मानवेन्द्र सिंह के मांझी का नाम

राजस्थान में वसुंधरा राजे जब से आयी है, ऐसा कोई भी नेता कभी नही उबर पाया जिसका हाथ पकड़ कर उन्होने फोटो खींचा ली हो। चाहे वो किरोड़ी बैंसला हो या फिर किरोड़ी मीणा। मदन दिलावर आज तक अपने हालात पर रोते नजर आते है, वही हरिशंकर भाभड़ा से लेकर

कांग्रेस के लिए वसुंधरा राजे के ट्रॉजन हार्स साबित हो सकते है मानवेन्द्र सिंह

ट्रॉजन हार्स - कुख्यात कम्प्यूटर वायरस का ये नाम ग्रीक कथाओं से आया है। होमर ने अपने काव्य इलियड़ में वो कहानी सुनाई है जिसमें ग्रीक सेना जब ट्रॉय को हराने में कामयाब नही हुई तो वे एक लकड़ी का बड़ा घोड़ा उनके दरवाजे पर छोड़ कर पीछे हट गये।

ज्योति मिर्धा – विरासत की सीढ़ी से महत्वकांक्षा के भार की कहानी

खग वाहूं उलझै घणी, मैंगल रहिया घूम। नणदल, ऊंची बांध दो, बाजूबंद री लूंम।। राजनीति किसी युद्ध से कम नही और राजनीति के मैदान में जब योद्धा महिला हो तो देखने वालों की नजरे और नजरियां दोनों ही अलग तरह का होता है। राजस्थान की राजनीति में गायत्री देवी के जमाने से ही महिलाओं

मगरा क्षेत्र – राजनीति के भागीरथ की अनवरत तलाश में

भाजपा और कांग्रेस की चुनावी जंग का बिगुल राजस्थान में बज चुका है। जातियों के समीकरण और उन पर आधारित दावेदारियों की बहस अब पार्टी दफ्तरों, नेताओं के घरों और चाय की थड़ियों पर लड़ते पत्रकारों के बीच अनसुनी करने के बावजूद भी सुनाई दे ही जाती है। पर राजस्थान

Top