You are here
Home > Rajasthan > Politics > ट्रेड लाइसेंस के नाम पर शुल्क वसूली का आदेश अनुचित- पुनीत कर्णावट

ट्रेड लाइसेंस के नाम पर शुल्क वसूली का आदेश अनुचित- पुनीत कर्णावट

जयपुर – जयपुर नगर निगम ग्रेटर के उपमहापौर पुनीत कर्णावट ने जयपुर के लघु एवं मध्यम सहित सभी व्यापारियों से ट्रेड लाइसेंस के नाम पर वार्षिक शुल्क वसूलने के राज्य सरकार के आदेश पर नगर निगम ग्रेटर का पक्ष स्पष्ट करते हुए कहा कि यह निर्णय नगर निगम में प्रशासक लगे होने के समय सरकार के स्तर पर लिया गया है न कि नगर निगम के स्तर पर।

पुनीत कर्णावट ने व्यापारियों को आश्वस्त करते हुए कहा कि नगर निगम ग्रेटर द्वारा किसी भी व्यवसायी से बलपूर्वक वसूली नहीं की जाएगी एवं सभी प्रभावित पक्षकारों से विचार विमर्श करके व्यापारियों के हित में निर्णय लिया जाएगा तथा आदेश वापस लेने के लिए राज्य सरकार से बात की जाएगी।*

पुनीत कर्णावट ने राज्य सरकार के आदेश को अव्यवहारिक बताते हुए कहा कि व्यवसायियों से फर्म रजिस्ट्रेशन फीस, यूडी टैक्स एवं कुछ विशेष व्यवसायों पर अन्य शुल्क निगम द्वारा पहले ही वसूल किया जा रहा है ऐसे में यह अतिरिक्त शुल्क वसूलने के आदेश अनुचित व अव्यवहारिक है। अतः इसे अधिक तर्कसंगत और सरल बनाया जाना चाहिए। महत्वपूर्ण बात यह भी है कि कोरोनाकाल में छोटे बड़े सहित सभी व्यवसायी राज्य सरकार से बिजली बिलों,  एवं अन्य रियायतों की उम्मीद लगाए बैठे थे उसके विपरीत अलग से ट्रेड शुल्क वसूलने का आदेश जारी करके सरकार ने वित्तीय संकट की मार झेल रहे व्यवसायियों पर कुठाराघात किया है जो कि कतई न्याय संगत नहीं है।

उपमहापौर पुनीत कर्णावट ने जयपुर व्यापार महासंघ की मांगों को जायज ठहराते हुए व्यापारियों को आश्वासन दिया कि नगर निगम द्वारा किसी भी व्यवसायी से जबरन वसूली नहीं होगी तथा आदेश पर पुनर्विचार कर वापस लेने हेतु राज्य सरकार से शीघ्र बात की जाएगी।

Leave a Reply

Top