You are here
Home > Rajasthan > Politics > ट्रेड लाइसेंस के विरोध में जयपुर बंद को मिला संयुक्त अभिभावक संघ का समर्थन

ट्रेड लाइसेंस के विरोध में जयपुर बंद को मिला संयुक्त अभिभावक संघ का समर्थन

जयपुर – राज्य सरकार और नगर निगम ग्रेटर द्वारा शहर के छोटे-बड़े व्यवसायीयों पर ट्रेड लाइसेंस की लूट के खिलाफ जयपुर के व्यापार मंडलो व संघो औऱ महासंघो ने शनिवार को  जयपुर बंद का आह्वान किया गया है।

संयुक्त अभिभावक संघ ने जयपुर व्यापार मंडल अध्यक्ष ललित सांचौरा से मुलाकात कर बंद का समर्थन किया और जयपुर बंद के समर्थन में समर्थन पत्र भी भेंट किया। इस दौरान संयुक्त अभिभावक संघ प्रदेश अध्यक्ष अरविंद अग्रवाल, प्रदेश विधि मामलात मंत्री एडवोकेट अमित छंगाणी, प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक जैन बिट्टू और जयपुर जिला अध्यक्ष युवराज हसीजा ने मुलाकात कर अभिभावकों की ओर से समर्थन पत्र सौपा, साथ ही जयपुर जिले के सभी अभिभावकों और छोटे-बड़े व्यापारियों से बंद में शामिल होने का आह्वान किया।

प्रदेश विधि मामलात मंत्री अमित छंगाणी ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते पहले ही प्रदेश का नागरिक दयनीय स्थिति के दौर से गुजर रहा है, इस महामारी के चलते छोटे-बड़े सभी व्यापारियों के काम-धंधों पर अत्यधिक प्रभाव भी पड़ा है उसके बावजूद व्यापारियों पर ट्रेड लाइसेंस जख्मों पर मरहम लगाने की बजाय नमक छिड़कने का कार्य कर रही है। देश, प्रदेश और शहर का छोटा व्यापारी हो या बड़ा व्यापारी वह व्यापारी बाद में है पहले वह एक अभिभावक है और अभिभावकों के प्रतिनिधि संगठन होने के चलते हमारी जिम्मेदारी बनती है कि हम प्रत्येक अभिभावकों के दुःख-दर्द के सहभागी बने और उनका साथ देंवे। 

प्रदेश अध्यक्ष अरविंद अग्रवाल ने कहा कि पिछले साल 31 अगस्त 2020 को संयुक्त अभिभावक संघ ने भी राजस्थान बंद रखा था तब इन्ही व्यापारियों ने अपने अभिभावक होने का कर्तव्य के साथ पालन करते हुए राजस्थान बंद को सफल बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया था। आज जब व्यापारियों को जरूरत पड़ी तो हम उनका साथ नही छोड़ सकते है, हमारा भी कर्तव्य बनता है इनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चले। राज्य सरकार और नगर निगम को अभिभावकों और व्यापारियों का साथ देते हुए ट्रेड लाइसेंस को तत्काल रद्द करना चाहिए। 

Leave a Reply

Top