You are here
Home > Rajasthan > Economy > डिप्टी मेयर पुनीत कर्णावट ने ट्रेड लाइसेंस फीस रद्द करने की मांग की

डिप्टी मेयर पुनीत कर्णावट ने ट्रेड लाइसेंस फीस रद्द करने की मांग की

जयपुर – नगर निगम ग्रेटर के उपमहापौर पुनीत कर्णावट ने ट्रेड लाइसेंस शुल्क वसूली के विरोध में जयपुर के व्यापारियों द्वारा 11 सितम्बर को बुलाए गए जयपुर बंद को स्थगित करने की अपील करते हुए कहा कि राज्य सरकार के आदेश के बाद व्यवसायियों में उत्पन्न चिंता व आक्रोश जायज है और उनकी चिंताओं से अवगत कराने के लिए तथा ट्रेड शुल्क वसूली के फैसले को निरस्त करने का आग्रह करते हुए मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा है। पुनीत कर्णावट ने नगर निगम आयुक्त को भी अंतिम निर्णय होने तक शुल्क वसूली को स्थगित करने हेतु जोन उपायुक्तों को निर्देश देने के लिए कहा है।

पुनीत कर्णावट ने बताया कि पत्र में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को अवगत कराया गया कि वर्तमान बोर्ड के गठन से पूर्व सरकार द्वारा नियुक्त प्रशासक एवं अधिकारियों द्वारा तैयार करके भेजे गए ट्रेड लाइसेंस शुल्क वसूली के प्रस्ताव को मंजूरी देते हुए राज्य सरकार ने आदेश जारी कर दिए जो कि सर्वथा अनुचित एवं अव्यवहारिक हैं। इससे जयपुर के लगभग 1.50 लाख व्यापारियों पर अतिरिक्त वित्तिय भार पड़ेगा और उनका व्यापार करना मुश्किल हो जाएगा। पत्र में मुख्यमंत्री गहलोत से आग्रह करते हुए स्पष्ट रूप से उल्लेख किया गया कि निगम में गठित वर्तमान बोर्ड के सभी जनप्रतिनिधियों की सलाह तथा प्रावधानों के गुण अवगुण व प्रभावित पक्षों से चर्चा करके ही निर्णय लिया जाना चाहिए तब तक शुल्क वसूली के सम्बंध में अधिकारियों को निर्देश जारी करें।

पुनीत कर्णावट ने सभी व्यापार संगठनों एवं व्यवसायियों से 11 सितम्बर को बुलाए गए जयपुर बंद को स्थगित करने की अपील करते हुए दुबारा आश्वस्त किया कि बातचीत करने के लिए नगर निगम हमेशा तैयार है तथा सभी प्रभावित पक्षों के सुझावों, आपत्तियों एवं व्यापक चर्चा के बाद ही विषय पर उचित निर्णय लिया जाएगा। कोरोनाकाल में लॉक डाउन के कारण व्यापारी वर्ग को भारी आर्थिक संकटो का सामना करना पड़ा है और अभी भी व्यापार पूरी तरह से पटरी पर नहीं आ पाया है ऐसे में 11 सितम्बर को जयपुर बंद के कारण छोटे बड़े सभी व्यापारियों को और अधिक  नुकसान होगा तथा जयपुर की जनता को भी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।

Leave a Reply

Top