You are here
Home > Rajasthan > Crime > पाली में ब्लाइन्ड मर्डर का खुलासा, महिला समेत दो गिरफ्तार

पाली में ब्लाइन्ड मर्डर का खुलासा, महिला समेत दो गिरफ्तार

पाली – जिले के बाली थाना क्षेत्र के बीजापुर चौकी इलाके में स्थित दो धार्मिक स्थल के मध्य पहाड़ियों में 16 सितम्बर को हुये ब्लाइंड मर्डर का खुलासा कर पुलिस ने हत्यारोपी महिला व उसके बेटे को गिरफ्तार कर लिया है। मृतक गांव मोरडू थाना सुमेरपुर पाली निवासी महिपाल सिंह पुत्र दलपत सिंह देवडा (35)  टैक्सी चालक था। जिसकी हत्या के आरोप में उसी के गांव की निवासी चन्द्र कुंवर पत्नी मग सिंह (45) व उसके बेटे देवेंद्र सिंह (19) को गिरफ्तार किया गया है।

पाली एसपी कालुराम रावत ने बताया कि 16 सितम्बर को बाली थाना क्षेत्र में हर हर गंगे व नगरेश्वर महादेव मंदिर के मध्य पहाड़ियों में युवक की हत्या होने की सूचना मिलने पर एएसपी बाली बृजेश सोनी, सीओ बाली हिमांशु जांगिड व थानाधिकारी बाली देवेन्द्र सिंह मय जाब्ता मौके पर पहुंचे ओर घटनास्थल का निरीक्षण कर साक्ष्य एकत्रित किये। मुकदमा दर्ज कर एक विशेष टीम गठित की गई। गठित टीम ने मात्र 48 घण्टो में वारदात का खुलासा कर दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपिया चन्द्र कुवर एवं मृतक महिपाल सिंह दोनों गांव मोरडु के निवासी हैं। प्रारम्भिक अनुसंधान से यह स्पष्ट हुआ हैं कि चन्द्र कुवर काफी वर्षो से अनैतिक गतिविधियों में संलिप्त थी, जिसकी जानकारी मृतक को थी। महिपाल सिंह बार-बार महिला से पैसे मांगता तथा उसके बेटे देवेन्द्र सिंह को भी उसकी मां के चरित्र के बारे में बोलता रहता। इसी नाराजगी को लेकर चन्द्र कुवर व देवेन्द्र सिंह ने महिपाल सिंह की हत्या की योजना बनाई।

16 सितम्बर को चन्द्र कुवर ने महिपाल सिंह को बीजापुर क्षेत्र की हर हर गंगे धार्मिक स्थल की तरफ मिलने को कहा। जिस पर अपनी बाईक से दिन में करीब 11.30 बजे महिपाल बीजापुर पहुंच गया तथा चन्द्र कुवर एवं देवेन्द्र सिंह भी बस से बीजापुर आ गये। वहाॅ से दोनो मा-बेटे महिपाल के साथ मोटर साईकिल पर बैठ कर मन्दिर की तरफ गए। महिपाल सिंह ने अपनी मोटरसाईकिल चढाई से पूर्व पहाड़ी क्षैत्र के नीचे साईड में खड़ी कर दी थी, फिर तीनो पैदल-पैदल घटना स्थल की तरफ गए। वहाॅ सुनसान स्थान पर महिपाल सिह व आरोपीया एक स्थान पर बैठे तभी देवेन्द्र ने मौके का फायदा उठाकर महिपाल के सिर पर भारी दे मारा ओर साथ लाये कुंट से ताबडतोड वार किए तथा आरोपिया ने भी महिपाल को पत्थरो से मारा।

महिपाल के गंभीर चोटे आने से वह गिर गया। पहचान छिपाने देवेन्द्र सिह ने उसका मोबाईल, पर्स एवं बाईक की चाबी निकाल सिर व मुंह पर भारी पत्थर मारे। इसी दौरान तीर्थ स्थल क्षेत्र मे कुछ लोगो ने यह घटना देख कर दूर से हल्ला किया तो दोनों वहां से भागने लगे। पहाडी से नीचे उतरते समय देवेन्द्र सिह ने रास्ते मे एक व्यक्ति के पास मौजुद हेलमेट छीन लिया तथा नीचे खड़ी मृतक की बाईक लेकर वहां से भाग गये । लोगों की सूचना पर पाली पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू हुई।

पाली पुलिस ने सम्पूर्ण रास्तो मे मौजूद सीसीटीवी कैमरों के फूटेज चैक किये जिसमे दोनों आरोपित बाईक पर बैठ कर भागते दिखे। हत्या के बाद दोनो मृतक की बाईक से कच्चे मार्गो से होकर जवाई बांध रेलवे स्टेशन पहुंचे। रेलवे स्टेशन के बाहर मृतक की बाईक खडी करके वहां से अन्य साधन से सुमेरपुर पहुंचे तथा सुमेरपुर मे खडी अपनी मोटरसाईकिल से गांव मोरडु पहुंच गये।

Leave a Reply

Top