You are here
Home > Rajasthan > Politics > रबी फसलों के समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी नरेन्द्र मोदी सरकार का ऐतिहासिक फैसला: डॉ सतीश पूनियां

रबी फसलों के समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी नरेन्द्र मोदी सरकार का ऐतिहासिक फैसला: डॉ सतीश पूनियां

जयपुर – केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा रबी विपणन मौसम 2022-23 के लिए सभी अनिवार्य रबी फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाये जाने के ऐतिहासिक फैसले का भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनियां ने स्वागत करते हुये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार जताया है।

डॉ सतीश पूनियां ने कहा कि, भाजपा की सरकारों ने अटल बिहारी वाजपेयी  से लेकर और अब लगातार पिछले 7 सालों से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी सरकार देश के किसानों के कल्याण के लिए कार्य कर रही है, अनेकों नीतियां एवं योजनाएं शुरू की हैं।

किसान क्रेडिट कार्ड से लेकर फसल बीमा योजनाएं इत्यादि तमाम नवाचार किये हैं।

डॉ सतीश पूनियां ने कहा कि मोदी सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि के माध्यम से देश के किसानों को बड़ा संबल देने का काम किया है और यह योजना दुनिया की सबसे बड़ी डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीम बन चुकी है।

“प्रधानमंत्री मोदी इस बात के लिए प्रतिबद्ध हैं कि देश के अन्नदाता किसान को फसलों की उचित कीमत मिले, और इसी दिशा में बड़ा फैसला लेते हुए 24 फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी कर अपनी प्रतिबद्धता दिखाई है। अब रबी सीजन की फसलों (गेहूं, सरसों, कुसम इत्यादि) के न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी कर किसानों को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में ऐतिहासिक फैसला लिया है।“डॉ सतीश पूनियां ने कहा।

डॉ सतीश पूनियां ने कहा कि, गेहूं का समर्थन मूल्य वर्ष 2013-14 में 1350 था, जिसके मुकाबले वर्ष 2022-23 में 2015 रूपए प्रति क्विंटल किया गया है, जो लगभग 49 प्रतिशत की बढ़ोतरी है। सरसों का समर्थन मूल्य वर्ष 2013-14 में 3000 रुपये के मुकाबले वर्ष 2022-23 में 5050 रूपए प्रति क्विंटल किया है, जो लगभग 68 प्रतिशत की वृद्धि को दर्शाता है।

यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का किसानों के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को दर्शाता है और साथ ही अन्नदाता किसान को उसकी फसलों का पूरा प्रतिफल मिले, इसके लिए भी मोदी सरकार पूरी तरह संकल्पित है।

Leave a Reply

Top