You are here
Home > Rajasthan > Politics > 2025 तक क्षय मुक्त हो राजस्थान – डॉ. रघु शर्मा

2025 तक क्षय मुक्त हो राजस्थान – डॉ. रघु शर्मा

जयपुर – चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने प्रदेश में वर्ष 2025 तक क्षय रोग का उन्मूलन करने के लिए समयबद्ध लक्ष्य निर्धारित कर आवश्यक कार्य करने के निर्देश दिए है। डॉ. रघु शर्मा ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तक बलगम जांच की सुविधा सुनिश्चित करने के साथ ही स्वास्थ्य उपकेन्द्रों में सैम्पल कलेक्शन की सुविधा उपलब्ध करवाने केे भी निर्देश दिए है।

डॉ. शर्मा सोमवार को राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम की वीडियो कान्फ्रेंस द्वारा आयोजित समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने क्षय रोग उन्मूलन के संबंध में राज्य एवं जिला स्तर पर किए जा रहे कार्यों की विस्तार से समीक्षा की एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि विश्व के लगभग 26 प्रतिशत क्षय रोगी हमारे देश है और हमारे देश के लगभग 6 प्रतिशत क्षय रोगी राजस्थान में है। उन्होंने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा वर्ष 2030 तक विश्व को क्षय रोग से मुक्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसी क्रम में हमारे देश में वर्ष 2025 तक क्षय रोग उन्मूलन का लक्ष्य है। प्रदेश का चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग राजस्थान को इस निर्धारित अवधि में क्षय रोग से पूर्णतः मुक्त करने के लक्ष्य को लेकर कार्य कर रहा है।

डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि प्रदेश में प्रति माह लगभग 12 से 17 हजार बलगम के नमूने लेकर जांच की जा रही है। गत कुछ समय से कोरोना के कारण यह कार्य प्रभावित हुआ लेकिन अब पूरी क्षमता के साथ जांच व उपचार करने के निर्देश दिए गए है। उन्होंने बताया कि क्षय रोग उन्मूलन के लिए नए मरीजों को डिटेक्ट कर उन्हंे समय पर गुणवत्ता युक्त उपचार उपलब्ध करवाने पर विशेष बल दिया जा रहा है। विशेषज्ञों के अनुसार 85 प्रतिशत रोगी लगभग 6 माह के उपचार में क्षय रोग से मुक्त हो सकते है।

चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने क्षय रोग के मरीजांे को ’’निक्षय पोषण योजना’’ के तहत उपलब्ध करवाई जा रही सहायता के बारे में विस्तार से समीक्षा की एवं सभी मरीजों के बैंक खातों में समय पर निर्धारित राशि जमा करवाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इस योजना के तहत क्षय रोग के मरीजांे को 500 रूपये एवं ट्राइबल एरिया के मरीजों को 750 रूपये प्रतिमाह की सहायता राशि उपलब्ध करवाई जा रही है। योजना के तहत अप्रेल 2018 से अब तक लगभग 84 करोड़ रूपये की राशि जमा करवाई जा चूकि है।

रघु शर्मा ने टीबी रोग के बारे में जानकारी के लिए आमजन से ’’आरोग्य साथी एप’’ डाउनलोड करने का आग्रह किया। इस एप पर टीबी के संबंध में सभी आवश्यक जानकारियां उपलब्ध करवाई गई है। उन्होंने क्षय रोग संबंधित लक्षण प्रतीत होते ही तत्काल निकटवर्ती स्वास्थ्य केन्द्र में जाकर जांच व परामर्श लेने की आवश्यकता प्रतिपादित की है। उन्हांेन चिकित्सा कर्मियों से ’’प्रशासन गांवों के संग अभियान’’ एवं ग्रामसभाओं इत्यादि में टीबी रोग उन्मूलन के बारे में आमजन को जागरूक करने का आग्रह किया। उन्होंने प्राइवेट डॉक्टर्स से भी टीबी कन्ट्रोल प्रोग्राम में सहभागिता का आग्रह किया। वीडियो कॉन्फ्रेंस के प्रारम्भ में राज्य क्षय नियंत्रण अधिकारी डॉ. विनोद गर्ग ने प्रदेश में क्षय रोग के बारे में विस्तार से प्रजेंटेशन दिया।

वीसी में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सचिव वैभव गालरिया, मिशन निदेशक एनएचएम सुधीर शर्मा एवं निदेशक जन स्वास्थ्य डॉ. के.के. शर्मा सहित जिलों के जिला कलेक्टर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, जिला क्षय रोग उन्मूलन अधिकारी एवं अन्य संबंधित अधिकारियों ने भाग लिया।

Leave a Reply

Top